Skip to content

ज्ञानवापी में नमाज पर रोक, पूजा के लिए खोली जाए 22 प्रस्तावों पर संतों की मुहर

ज्ञानवापी में नमाज पर रोक, पूजा के लिए खोली जाए 22 प्रस्तावों पर संतों की मुहर

ज्ञानवापी विवादित ढांचे (ज्ञानवापी मस्जिद शिवलिंग) के वजू खाना में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद कोर्ट में मामला लंबित होने के बाद भी संत समाज इस मामले को लेकर मुखर हो गया है. शुक्रवार (3 जून 2022) को काशी धर्म परिषद की बैठक में साधु-संतों ने कुल 22 प्रस्तावों पर चर्चा की। इस दौरान संतों ने ज्ञानवापी के विवादित ढांचे के वजू खाना में मिले शिवलिंग के तत्काल दर्शन और पूजा की मांग की. ऐसा न करने पर उन्होंने ज्ञानवापी परिसर में हिंदुओं के साथ मुसलमानों के प्रवेश पर रोक लगाने की बात कही.

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बैठक का आयोजन कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद के लमही गांव स्थित सुभाष भवन में किया गया था. बैठक में विभिन्न मठों के महंत, संतों और संतों सहित कई सामाजिक कार्यकर्ता और इतिहासकार शामिल हुए। इस खास मौके पर संतों ने कहा कि मुस्लिम धर्मगुरुओं से अपील है कि वे सनातन धर्म की प्रमुख आस्था के केंद्र से अपना दावा त्याग दें. कोर्ट का फैसला आने तक अगर ज्ञानवापी में पूजा नहीं होती है तो पूजा भी बंद कर देनी चाहिए. धर्म परिषद की बैठक में यह भी सहमति बनी कि औरंगजेब के काशी के मंदिरों के विध्वंस का इतिहास बताते हुए मक्का और मदीना के इमामों को एक पत्र लिखा जाएगा।

वहीं, बैठक में पातालपुरी मठ के महंत स्वामी बालक दास ने कहा, ”ज्ञानवापी में शिवलिंग मिला है. इसके बावजूद हमें अपने आराध्य देव की पूजा नहीं करने दी जा रही है। फिर वहां नमाज क्यों पढ़ी जा रही है? जब हमारी इबादत पर पाबंदी है तो नमाज पढ़ने पर भी पाबंदी होनी चाहिए।”

इसके अलावा बिंदु माधव मंदिर का सच बताने पर भी चर्चा हुई। संतों ने कहा कि बिंदु माधव भी मुसलमानों को मंदिर की सच्चाई बताएंगे।

आपको बता दें कि 22 प्रस्तावों में से 5 प्रमुख प्रस्तावों में कहा गया है कि पूजा स्थल अधिनियम 1991 को तत्काल निरस्त किया जाना चाहिए। ज्ञानवापी में मिले आदि विश्वेश्वर के शिवलिंग की पूजा का अधिकार तत्काल दिया जाए। शिवलिंग को फव्वारा कहने वाले असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोगों के खिलाफ एफआईआर सामाप्त करो। सनातन धर्म के लोगों को ज्ञानवापी में पूजा करने के मौलिक अधिकार से वंचित नहीं किया जाना चाहिए। ज्ञानवापी में नमाज पढ़ने और मुसलमानों के प्रवेश पर तत्काल रोक।

credit source

ज्ञानवापी में नमाज पर रोक, पूजा के लिए खोली जाए 22 प्रस्तावों पर संतों की मुहर

#जञनवप #म #नमज #पर #रक #पज #क #लए #खल #जए #परसतव #पर #सत #क #महर

if you want to read this article from the original credit source of the article then you can read from here

Shopping Store 70% Discount Offer

Leave a Reply

Your email address will not be published.