टूटे दिल से बिखरी जिंदगी को संभलना सिखाती है रतना और अश्विन की ये कहानी

टूटे दिल से बिखरी जिंदगी को संभलना सिखाती है रतना और अश्विन की ये कहानी

धीरे धीरे लोगों में फिल्मों का स्वाद बदल रहा है। अब दर्शकों को पर्दे पर हीरोगिरी कम और रियलटी ज्यादा पसंद आने लगी है। इसी तरह से ओवर एक्टिंग और फिजूल के एक्शन से भरपूर फिल्में औंधे मुंह गिर रही है और एजेक्टिव मूवी को ज्यादा पसंद किया जा रहा है।

धीरे धीरे लोगों में फिल्मों का स्वाद बदल रहा है। अब दर्शकों को पर्दे पर हीरोगिरी कम और रियलटी ज्यादा पसंद आने लगी है। इसी तरह से ओवर एक्टिंग और फिजूल के एक्शन से भरपूर फिल्में औंधे मुंह गिर रही है और एजेक्टिव मूवी को ज्यादा पसंद किया जा रहा है। एक ऐसी ही रनों और अश्विन की अधूरी कहानी पर बनीं फिल्म ‘सर’ को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। फिल्म को नेटफ्लिक्स पर आप देख सकते हैं। ये फिल्म एक घर की नौकरानी और बॉस की प्यार की कहानी है जो आप को अंदर तक झकझोर कर रख देगी।

इसे भी पढ़ें: आदिपुरुष को लेकर प्रभास ने किया बड़ा ऐलान, जानें फिल्म से जुड़ी हर जानकारी

फिल्म की कहानी एक ऐसी लड़की की कहानी है जिसकी शादी के कुछ दिन बाद ही उसका पति मर जाता है और वह विधवा हो जाती है। लड़की का नाम रतन है और यह लड़की एक बेहद ही पिछड़े गांव की रहने वाली है। कई गांव में आज भी ये रिवाज है जहां पति के मरने के बाद पत्नी की जिंदगी अंधेरे में डूब जाती है, रतना का गांव भी उन्हीं में से एक है, लेकिन रतना काफी हिम्मत वाली है। उसने अपनी जिंदगी को अंधेरे में डूबने नहीं दिया और अपने ससुराल और मयके का खर्च चलाने के लिए वह मुंबई के एक घर में नौकरानी का काम करने लगी। रतन काफी समय से अश्विन के घर पर काम करती है और अपने मालिक को काफी अच्छे से समझती है।

यह भी पढ़ें: किसानों का समर्थन करने पर पहले मिला घघोरा, अब ट्रोल हो रहा है ये सितारे

दूसरी ओर मालिक अश्विन है। अश्विन का परिवार काफी अमीर और मॉर्डन है। अश्विन काफी समय से अपने फ्लैट में एक लड़की के साथ लीव-इन में रहते थे और उस लड़की से शादी करने वाले थे। किसी कारण अश्विन की शादी टूट जाती है और वह अपने घर लौट आती हैं। अश्विन और रतन की जिंदगी एक दूसरे से पूरी तरह अलग है लेकिन रतना अपने बॉस के कहनेे बिना ही उनकी बातों को समझती है और कई बार अपना उदाहरण देकर उन्हें मोटिवेट करती हैं। एक दिन एक ऐसी मूवेंट आती है जब दोनों अधूरे इंसान आपस में टकरा जाते हैं ये टकराहट दोनों के बीच के लंबे फासले को कम ही करने वाली होती है, तभी समाज दोनों के बीच में आ जाता है और दोनों फिर से अलग हो जाते हैं।

घर का काम करने वाली रतना अपने मालिक के साथ अपने रिश्ते बनाने का समाजिक अंजाम बहुत अच्छे से जानती हैं इस लिए वह अश्विन का घर छोड़कर चली जाती है। अश्विन के दिल में रतन के लिए काफी इज्जत है कि वह रतन से अपने दिल के जुड़ाव को महसूस करता है और रनों से दूर होकर उसके अधूरे सपने को पूरा करने की एक सफल कोशिश करता है। अश्विन के प्यार को क्या रतन समझ पाएगी या नहीं ये जानने के लिए आप नेटफ्लिक्स पर फिल्म देख सकते हैं और यकीन मानिए इस फिल्म का एक सीन भी आप मिस नहीं कर पाएंगे।

सर 2018 में बनीं एक भारतीय फिल्म है। रोहेना गेरा द्वारा निर्देशित हिंदी-लैंग्वेज रोमांटिक ड्रामा फिल्म में तिलोत्तमा शोम और विवेक गोमबर हैं लीड रोल: हैं। इसे रोहित गेरा और ब्राइस पोइसन द्वारा निर्मित किया गया था। सर ने कान्स फिल्म फेस्टिवल में प्रारंभिक चयन की जिसके बाद 2018 में यूरोपीय देशों में स्क्रीनशॉट का चयन हुआ। यह फिल्म भारत में 13 नवंबर 2020 को रिलीज हुई थी।

बहुत ही लंबे समय बाद एक ऐसी फिल्म बनी हुई देखी गई है जिससे आप अपने आपको जोड़कर देख सकते हैं। फिल्म की छोटी-छोटी चीजें बहुत ही ज्यादा रियलटी से कनेक्ट करती हैं। फिल्म का निर्देशन और लेखन रोहेना गेरा ने किया है। फिल्म में नौकरानी रतों का किरदार एक्ट्रेस तिलोत्तमा शोम ने प्लेया है और अश्विन का किरदार विवेक गोंबर ने प्लेया है। दोनों की किरदार ने अपने किरदार को बहुत ही शानदार तरीकों से प्लेया हैं।

Source link

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Translate »
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
Nixatube
Logo
%d bloggers like this: